युजवेंद्र चहल

द. अफ्रीका और भारत के बीच खेले जा रहे दूसरे वनडे मैच में द. अफ्रीका की पूरी टीम 118 रन पर सिमट गई। इस पारी में मेजबान टीम की कमर तोड़ी टीम इंडिया के स्पिन गेंदबाज़ युजवेंद्र चहल ने। चहल ने इस मैच में सिर्फ 8.2 ओवर में 22 रन देकर पांच विकेट लिए। इसके साथ ही साथ चहल ने एक ओवर मेडन भी फेंका। चहल के वनडे करियर का ये पहला पांच विकेट हॉल भी रहा।

चहल ने इस तरह किया अपना वनडे का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

चहल ने सबसे पहले द. अफ्रीका के ओपनर डि कॉक (20) का विकेट लिया। डि कॉक बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में पांड्या को कैच थमा बैठे। खाया जोंड़ो 25 रन बनाकर चहल का दूसरा शिकार बनें। जोंड़ों का कैच भी हार्दिक पांड्या ने ही पकड़ा। चहल का तीसरा शिकार बने जे पी डुमिनी। डुमिनी 25 रन बनाकर चहल की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। इसके बाद मोर्ने मोर्कल 01 रन बनाकर चहल की गेंद पर एलबीडव्ल्यू आउट हो हुए और चहल ने अपना चौथा शिकार किया। इसके बाद क्रिस मॉरिस (14) ने चहल की गेंद पर बड़ा शॉट लगाने की कोशिश की और वो भुवी को कैच थमा बैठे। मॉरिस के इस विकेट के साथ ही द. अफ्रीका की पारी सिमट गई और चहल ने अपना पहला पांच विकेट हॉल भी पूरा कर लिया।

चहल सेंचुरियन के मैदान पर वनडे क्रिकेट में पांच विकेट चटकाने वाले पहले भारतीय गेंदबाज़ भी बन गए। इससे पहले किसी भी भारतीय गेंदबाज़ का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन इस मैदान पर चार विकेट का था। इशांत शर्मा ने 2013 में इसी मैदान पर 40 रन देकर 4 विकेट लिए थे। लेकिन विराट कोहली के नेतृत्व में चहल ने पांच विकेट लेकर वो कर दिखाया जो उनसे पहले कोई भी भारतीय गेंदबाज़ नहीं कर पाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *