भारतीय क्रिकेट टीम के रिस्ट स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने एक बार फिर से साबित कर दिया कि दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के लिए दोनों बड़ी चुनौती हैं। इन दोनों की गेंदों को खेलना प्रोटीज के लिए आसान नहीं है। चहल और कुलदीप के पहले दोनों वनडे में प्रदर्शन के बाद कप्तान विराट को पूरा विश्वास है कि ये दोनों किसी भी मैदान पर अपनी गेंद को टर्न करा सकते हैं।

दूसरे वनडे में यानी सेंचुरियन में दोनों गेंदबाजों को पिच से काफी मदद मिली और इन्होंने मेजबान टीम को वनडे में उनकी धरती पर सबसे कम (118 रन) स्कोर पर ऑल आउट कर दिया। चहल ने इस मैच में अपने वनडे करियर का सर्वश्रष्ठ प्रदर्शन किया जबकि कुलदीप ने तीन विकेट लिए। चहन ने 22 रन देकर 5 विकेट लिए।

विराट ने कहा कि यहां कि पिच डरबन के मुकाबले थोड़ी कठोर थी और हमारे स्पिनरों ने इसका अच्छा इस्तेमाल किया। हमें पता था कि यहां कि पिच पर घास नहीं मिलेगी क्योंकि अगर पिच पर सिम मिलती है तो खेल किसी के भी पक्ष में जा सकता था। हमें ये भी पता था कि विकेट हार्ड होगा और हमारे रिस्ट स्पिनर किसी भी पिच पर गेंद को टर्न करा सकते हैं। उन्होंने द. अफ्रीकी टीम को कोई मौका नहीं दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *