सीरिया में हवाई हमलों में 120 जेहादी ढेर, मारे गए 60 भाड़े के सैनिक

सीरिया में हवाई हमलों में 120 जेहादी ढेर, मारे गए 60 भाड़े के सैनिक

सीरिया में पिछले 24 घंटे के दौरान रूस के श्रंखलाबद्ध हवाई हमलों में इस्लामिक स्टेट के करीब 120 लड़ाके और 60 विदेशी भाड़े के सैनिक मारे गए हैं. रूसी रक्षा मंत्रालय ने शनिवार (7 अक्टूबर) को मास्को में बताया कि इससे पहले के एक रूसी हवाई हमले में उमर अल शिशनी सहित आईएस के तीन वरिष्ठ कमांडरों के मारे जाने की पुष्टि हुई है.

मास्को ने अल शिशनी की मौत की पुष्टि की है, जबकि पेंटागन ने 2016 में कहा था कि कुख्यात लड़ाका इराक में अमेरिकी सैनिकों की कार्रवाई में मारा गया है.

मंत्रालय ने कहा, ‘‘मायादीन क्षेत्र में आतंकवादियों की एक कमान चौकी नष्ट हो गई और आईएस के कम से कम 80 लड़ाके मारे गए.’’ मंत्रालय ने बताया कि आईएस के 40 अन्य आतंकवादी अल्बु कमाल कस्बे के पास मारे गए हैं.

मायादीन सीरिया में आईएस के कब्जे वाले अंतिम गढ़ों में से एक है. दीर एजोर से दक्षिण यूफरेत्स घाटी में एक अन्य हवाई हमले में पूर्व सोवियत संघ, ट्यूनीशिया और मिस्र के 60 से अधिक विदेशी भाड़े के सैनिक मारे गए.

मंत्रालय ने कहा, ‘‘बड़ी संख्या में विदेशी भाड़े के सैनिक इराक से सीरिया सीमा स्थित अल्बु कमाल नगर में आ रहे हैं.’’ मंत्रालय ने यह भी जानकारी दी कि रूसी बलों ने आईएस के बड़े कमांडरों कमांडरों उमर अल शिशनी, अला अल दीन अल शिशनी और सालाह अल दीन अल शिशनी को मार गिराया है.

इससे पहले अधिकारियों ने शुक्रवार (6 अक्टूबर) को जानकारी देते हुए कहा था कि सीरियाई शहर दीर अल-जौर में एक लक्षित बम हमले और रॉकेट हमले में 27 लोगों की मौत हो गई. समचार एजेंसी एफे के अनुसार, सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स (एसओएचआर) ने कहा कि महकान इलाके में रूसी विमान के हमले में 14 लोग मारे गए. मानवाधिकार निगरानी संस्था के मुताबिक, पड़ोस के अल-कुसूर में एक स्कूल के पास एक रॉकेट के गिरने से 13 लोगों की मौत हो गई.

दोनों ही हमले गुरुवार (5 अक्टूबर) रात हुए. ये हमले ऐसे समय में किए गए हैं, जब दीर अल-जौर के बाहरी हिस्से में सीरियाई सरकार की सेना, उसके सहयोगियों और आईएस के बीच हिंसक संघर्ष जारी है.

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *