हिमस्खलन

जम्मू-कश्मीर के ऊंचे पहाड़ी इलाकों में शुक्रवार को हुए हिमस्खलन में तीन जवान शहीद हो गए। तीनों जवानों के शव बर्फ से निकाल लिए गए हैं। सेना के अधिकारी ने बताया कि कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में शुक्रवार को भारी हिमपात और हिमस्खलन हुआ। बर्फ की चपेट में वहां की कई चौकियां आ गईं। एक चौकी पर तैनात सेना के तीन जवान आ गए और कई फुट बर्फ के नीचे दब गए। बाद में सेना ने अभियान चलाकर अपने अन्य सैनिकों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया। बाद में बर्फ में दबे जवानों के शव बरामद कर लिए गए।

चार जवान बर्फ में दबे

सेना के अधिकारी ने बताया कि इस हिमस्खलन में चार जवान लापता हो गए थे। सर्च ऑपरेशन के दौरान एक जवान को बचा लिया गया, जबकि एक की मौके पर ही मौत हो गई थी। दो अन्य जवानों ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। एक जवान का इलाज अस्पताल में चल रहा है और वह खतरे से बाहर बताया जा रहा है। मृतकों में हवलदार कमलेश सिंह, नायक बलवीर और सिपाही राजिंद्र शामिल है।

दो दिन पहले अलर्ट जारी किया गया था

दो दिन पहले बुधवार को कुपवाड़ा सहित जम्मू-कश्मीर के विभिन्न जिलों में हिमस्खलन को लेकर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया था। सरकारी एजेंसी ने जम्मू कश्मीर के कई जिलों में हिमस्खलन की चेतावनी जारी की थी। अफगानिस्तान-ताजिकिस्तान सीमा क्षेत्र में 6. 2 की तीव्रता वाला भूकंप आने पर उत्तर भारत में कई हिस्सों के थर्राने के बाद यह कदम उठाया गया था।

दिसंबर में भी गई थी पांच जवानों की जान

कश्मीर के कुपवाड़ा में दिसंबर में कुपवाड़ा और बांदीपोरा में हिमस्खलन हुआ था। नौगाम सेक्टर में हुई भारी बर्फबारी के बाद लापता दो जवानों में से एक की बॉडी मिल गई थी। वहीं बांदीपोरा के गुरेज सेक्टर में आए हिमस्खलन में भी तीन सैनिक बर्फ के नीचे दब गए थे, जिनकी तलाश के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *