india win

हार्दिक पांड्‍या (83) और महेंद्रसिंह धोनी (79) की शानदार बल्लेबाजी और गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से भारत ने रविवार को पहले वर्षाबाधित वनडे में डकवर्थ ऑस्ट्रेलिया को लुईस पद्धति से 26 रनों से हराया।

भारत ने खराब शुरुआत के बाद 7 विकेट पर 281 रन बनाए। इसके बाद वर्षा के व्यवधान के चलते ऑस्ट्रेलिया को 21 अोवरों में 164 रनों का संशोधित लक्ष्य दिया गया, जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया 9 विकेट पर 137 रन बना पाया। भारत ने पांच मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई। दूसरा मैच गुरुवार को कोलकाता में खेला जाएगा।

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से डेब्यू मैच खेल रहे हिल्टन कार्टराइड मात्र 1 रन बनाकर जसप्रीत बुमराह की गेंद पर बोल्ड हुए।

कप्तान स्टीव स्मिथ मा‍त्र 1 रन बनाकर पांड्‍या की गेंद पर बुमराह को कैच दे बैठे। पांड्‍या ने ट्रेविस हेड (5) को विकेटकीपर धोनी के हाथों झिलवाया।

अब ऑस्ट्रेलिया की उम्मीदें डेविड वॉर्नर पर टिक गई थी, लेकिन वे 25 रन बनाने के बाद कुलदीप यादव की गेंद पर धोनी द्वारा लपके गए।

ग्लेन मैक्सवेल ने चहल की गेंद पर लगातार तीन छक्के लगाए, लेकिन चहल ने उन्हें आउट कर बदला ले लिया।

मैक्सवेल ने 18 गेंदों में 3 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 39 रन बनाए।

स्टोनिस को कुलदीप ने स्थानापन्न खिलाड़ी जडेजा के हाथों झिलवाया। चहल ने इसके बाद मैथ्यू वेड (9) को धोनी के हाथों स्टंप करवाया और फिर पैट कमिंस (9) को बुमराह के हाथों कैच करवाया।

चहल ने 30 रनों पर 3 विकेट लिए। पांड्‍या ने 28 रनों पर 2 और कुलदीप यादव ने 33 रनों पर 2 विकेट लिए।

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। कोल्टर नाइल ने भारत की शुरुआत बिगाड़ी जब उन्होंने अजिंक्य रहाणे (5) को ऑफ स्टंप के बाहर की गेंद पर विकेटकीपर मैथ्यू वेड के हाथों झिलवाया।

रोहित शर्मा भाग्यशाली रहे कि उन्हें 4 के निजी स्कोर पर कमिंस की गेंद पर जीवनदान मिला जब स्मिथ ने स्लिप में उनका कैच छोड़ा।

विराट कोहली खाता खोले बिना नाइल के दूसरे शिकार बने, जब बैकवर्ड पाइंट पर ग्लेन मैक्सवेल ने एक हाथ से उनका शानदार कैच लपका।

नाइल ने इसी अोवर में भारत को एक और झटका दिया जब उन्होंने मनीष पांडे (0) को विकेटकीपर वेड के हाथों झिलवाया।

11 रनों पर 3 विकेट की विषम स्थिति के बाद रोहित ने जाधव के साथ मिलकर पारी को संभाला। इन्होंने चौथे विकेट के लिए 53 रन जोड़े।

स्टोनिस की बाउंसर को रोहित (28) नीचे नहीं रख पाए और डीप स्क्वेयर लेग पर नाथन कोल्टर नाइल ने आसान कैच लपका।

अब उम्मीदें केदार जाधव पर टिक गई थी, लेकिन वे स्टोनिस की बाउंसर पर मिडविकेट पर कार्टराइट को कैच दे बैठे। उन्होंने 5 चौकों की मदद से 40 रन बनाए।

87 रनों पर 5 विकेट की स्थिति के बाद धोनी का साथ देने पांड्या क्रीज पर उतरे और उन्होंने जमने के बाद खुलकर स्ट्रोक्स खेले। एडम जाम्पा द्वारा डाले गए पारी के 37वें अोवर में पांड्‍या ने लगातार तीन छक्के जड़े और इसी दौरान फिफ्टी पूरी की।

उन्होंने 48 गेंदों में 3 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 50 रन बनाए। पांड्‍या 66 गेंदों में 5 चौकों और 5 छक्कों की मदद से 83 रन बनाकर जाम्पा के शिकार बने।

यह उनका सर्वाधिक स्कोर है। उन्होंने धोनी के साथ छठे विकेट के लिए 118 रन जोड़े। इसके बाद धोनी ने अपनी 66वीं फिफ्टी पूरी की।

वे 88 गेंदों में 4 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 79 रन बनाकर फॉकनर के शिकार बने। धोनी ने भुवनेश्वर कुमार (32 नाबाद) के साथ सातवें विकेट के लिए 72 रन जोड़े। नाथन कोल्टर नाइल ने 3 और स्टोनिस ने 2 विकेट लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *