2000 रुपये के नोटों

2000 रुपये के नोट बंद होने की अटकलों पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पूर्ण विराम लगा दिया है. वित्त मंत्री ने कहा, इस तरह की अफवाहें फैलायी जा रही हैं. जब तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं होती, इन पर भरोसा ना करें.

यहां यह जानना गौरतलब है कि पिछले दिनों आयी SBI की एक रिपोर्ट के आधार पर ऐसी खबरें चली थीं कि RBI 2000 रुपये के नोट या तो वापस ले सकता है या उसकी छपाई बंद कर सकता है.

पिछले साल नोटबंदी के बाद पहली बार भारतीय बाजार में आये 2000 रुपये के नोटों को लेकर लंबे समय से ऐसी खबरें सामने आ रही थीं कि इनकी छपाई रोक दी गयी है और रिजर्व बैंक जल्द ही इन्हें वापस मंगा लेगा.

इन खबरों के पीछे दलील यह दी जा रही थी कि बड़ी रकम के ये नोट बाजार में ‘खुल्ले’ की समस्या बढ़ायेंगे. एक वजह यह भी बतायी जाती रही है कि यह नोट भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने में भी बड़ी भूमिका निभा सकते हैं.

बताते चलें कि हाल ही में लोकसभा में वित्त मंत्रालय ने कहा कि RBI ने अभी तक 500 रुपये के 16957 करोड़ नोट और 2000 के 3654 करोड़ नये नोटों की छपाई की है. इन सभी नोटों की कुल राशि 15787 अरब रुपये है. इस तरह RBI ने 2,463 अरब रुपये की ज्यादा नोटों की छपाई कर दी है.
SBI की मुख्य आर्थिक सलाहकार सौम्या कांती घोष ने कहा कि जो भी ज्यादा नोट RBI द्वारा छापे गये हैं, उन्हें बाजार में जारी नहीं किया जायेगा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *